Brag equation for x ray diffraction

Feeling:

Really Dumb

Language:

Hindi

Prompt:

Brag equation for x ray diffraction
X-रे विकर्ण के लिए ब्रैग समीकरण एक बहुत महत्वपूर्ण समीकरण है जो क्रिस्टल के संरचना को विश्लेषित करने में मदद करता है। इस समीकरण में लंबवृत्ती और विकर्ण के बीच के संबंध को प्रकट किया जाता है। उदाहरण: अगर किसी क्रिस्टल की लंबवृत्ती 2 एंग्स्ट्रॉम है और X-रे की विकर्ण 30 डिग्री है, तो ब्रैग समीकरण के अनुसार इस क्रिस्टल से प्रकाश का प्रक्षेपण कैसे होगा। आँकड़े: – लंबवृत्ती = 2 एंग्स्ट्रॉम – विकर्ण = 30 डिग्री उपमाएँ: – ब्रैग समीकरण के माध्यम से हम क्रिस्टल के संरचना को विश्लेषित कर सकते हैं। – इस समीकरण का उपयोग विज्ञानीय अनुसंधानों में X-रे विकर्ण विश्लेषण के लिए किया जाता है। सत्यापन योग्य तथ्य: ब्रैग समीकरण का आविष्कार विल्लियम हेनरी ब्रैग और उनके पुत्र विल्लियम लॉरेंस ब्रैग द्वारा किया गया था।